युवा चेतना ने किसान बिल 2020 को काला कानून बताते हुए इसे पूरी तरह से किसान विरोधी करार दिया. युवा चेतना के नेताओं ने आज बलिया जिले के किसानों से मिल उन्हें बिल की खामियों और किसानों को होने वाले नुकसान से अवगत कराया.

युवा चेतना के संरक्षक स्वामी अभिषेक ब्रह्मचारी ने कहा कि मोदी सरकार किसान विरोधी है. उन्होंने कहा कि जबसे नरेंद्र मोदी भारत के प्रधानमंत्री बने हैं तबसे किसानों द्वारा आत्महत्या की घटनाएं बढ़ गई हैं. स्वामी अभिषेक ब्रह्मचारी ने कहा कि किसान अगर खुश नहीं रहेगा तो देश की तरक़्क़ी कैसे होगी.

युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक रोहित कुमार सिंह ने कहा कि एक देश एक बाज़ार का नारा देकर भाजपा किसानों को ठग रही है. भाजपा देश को निजी हाथों में देने की साजिश रच रही है. उन्होंने कहा कि भारत कृषि प्रधान देश है परंतु मोदी जी उद्योगपति प्रधान देश बनाने का प्रयास कर रहे हैं.

रोहित सिंह किसान-नौजवान को ठगकर कोई पार्टी भारत में शासन नहीं कर सकती है. उन्होंने हरसिमरत कौर ने मोदी मंत्रीमंडल से इस्तीफ़ा देकर प्रमाणित कर दिया की भाजपा सरकार किसान विरोधी है.

इस अवसर पर बीरेन्द्र यादव, अजय राय मुन्ना, बैजू राय, अजय ओझा, अखिलेश चौहान, दयाशंकर राय, रविशंकर राय पप्पू, आलोक राय, आदित्य चौबे, इंद्रजीत राम, अभिषेक यादव आदि उपस्थित रहे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here