कोरोना वायरस के लगातार बढ़ रहे संक्रमण ने केंद्र और प्रदेश सरकार की चिंताएं बढ़ा दी हैं. अप्रैल महीने की शुरूआत से कोरोना संक्रमण के मामलों ने अब तक के सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए हैं. उत्तर प्रदेश के बड़े शहरों में भी कोरोना सयंक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं.

यूपी में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर योगी सरकार अब एक्शन मोड में आ गई है. लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी जैसे कई बड़े शहरों में रात्रि कर्फ्यू लगाने के बाद अब सरकार ने एक और नया आदेश जारी कर दिया है.

योगी सरकार की ओर से जारी आदेशानुसार लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज और वाराणसी के सभी सरकारी और गैर सरकारी कार्यालयों में 50 फीसदी मानव संसाधन की क्षमता के साथ काम किया जाए. बाकी लोगों को घर से ही काम करने की अनुमति दी जाए ताकि कोरोना के बढ़ते प्रसार को रोका जा सके.

सरकार की ओर से जारी दिशानिर्देशों में ये कहा गया है कि सभी जगहों पर कोविड के प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन सुनिश्चित किया जाए. साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का भी पूरा अनुपालन किया जाए.

उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने मीडिया को जानकारी देते हुए कहा कि कोविड संक्रमण से अब तक 9,039 लोगों की मृत्यु हो गई है. कल प्रदेश में 1,97,479 सैंपल की जांच की गई. जिसमें से 86,000 सैंपल की जांच RT-PCR के जरिए की गई है. अब तक प्रदेश में 3,63,44,993 सैंपल की जांच की गई.

उन्होंने कहा कि अब तक प्रदेश में 69,68,387 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज़ दी जा चुकी है. इसी प्रकार 11,97,401 लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज़ दी जा चुकी है. 11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक टीका उत्सव मनाया जाएगा. जिसमें व्यापक स्तर पर टीका लगाने का काम किया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here