योगी सरकार की योजना, इलाज के लिए नहीं जाना होगा डॉक्टर के पास, सबकुछ होगा हाईटेक

0

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने गांव में इलाज की सुविधा के लिए एक नई योजना बनाई है. सरकार ऐसे क्लीनिक खोलने की तैयारी में है, जहां डॉक्टर नहीं होंगे. बिना डॉक्टर इलाज होगा. इसे पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर शुरू करने की योजना है. जिसके तहत राज्य के कुछ जिलों के गांवों में हाईटेक क्लीनिक खोला जाएगा.

खास बात ये होगी कि इन क्लीनिक में डॉक्टर नहीं बैठेंगे. टेलीकांफ्रेंसिंग और वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मरीजों का इलाज किया जाएगा. ओपीडी में एक भी डॉक्टर तैनात नहीं होगा.

क्लीनिक में नर्स, लैब टेक्नीशियन और स्वीपर की तैनाती की जाएगी. मशीन खून की जांच करेगी, रक्तचाप, धड़कन को भी मशीन बताएगी. इस दौरान दूर कहीं बैठे डॉक्टर मरीज से टेलीकांफ्रेंसिंग के जरिए बात करेंगे. वह स्क्रीन पर ही रिपोर्ट देख लेंगे. वह जिस दवा को बताएंगे वह मशीन से ही मिल जाएगी.

मल्टीनेशनल कंपनी 10 पीएचसी पर ओपीडी बनाएगी, जिनमें आधुनिक मशीनों का इस्तेमाल होगा. पंजीकरण के लिए नर्स की और खून टेस्ट के लिए रोगी से खून लेने के लिए लैब टेक्नीशियन की तैनाती होगी. सभी पीएचसी सेंटर कमांड सेंटर से जुड़ेंगे.

शुरुआत में 10 जिलों का हुआ चयन 

इस योजना के लिए 10 जिलों के एक-एक अस्पताल का चयन किया गया है. जहाँ हाईटेक क्लीनिक को खोला जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here