दुखद : इधर पत्नी ने दिया बेटी को जन्म, उधर पति ने तोड़ दिया अस्पताल में दम

0

कहते है जो कुदरत को मंजूर होता है उसको कोई रोक नहीं सकता है, चाहे व्यक्ति जितना भी प्रयत्न कर ले. ऐसा ही वाक्या करवाचौथ के दिन देखने को मिला जिसके बाद सभी की आँखे नम हो गयी. सभी ईश्वर को कोसते हुए नजर आये.

उत्तर प्रदेश के जिले औरैया में एक ह्रदयविदारक घटना हुई. शुक्रवार की मध्यरात्री एक ऐसा वाक्या हुआ जिसके बाद से लोगों का  ईश्वर के ऊपर से भरोसा उठ सकता है. औरैया निवासी आलोक की पत्नी को मध्यरात्रि को प्रसव पीड़ा हुई. परिजन लेकर निजी अस्पताल में लेकर गए, जहाँ पर रात में 2 बजे डिलीवरी हुई और एक बेटी को जन्म दिया. जैसे बेटी को जन्म दिया वैसे ही दुर्घटना में पति ने दम तो दिया. जिससे परिवार में कोहराम मच गया.

कुदरत को पता नहीं क्या मंजूर था, बेटी जिसने अपने पिता का मुहं भी नहीं देखा था, उसके पिता की एक दुर्घटना में मौत हो गई.

यमुना एक्सप्रेस वे पर वाल्वो बस दुर्घटनाग्रस्त हो गई, जिसमें आलोक पुत्र दिनेश पाण्डेय की मौत हो गई. अलोक अपने भाई आशीष के साथ नॉएडा स्थित सेक्टर 37 में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करते है, डिलीवरी का पता चलने पर वह रात में ही वाल्वो बस से वापस आ रहे थे. घायलवस्था में उनको कैलाश हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया, जहाँ पर उनकी मौत हो गयी.

मौत से बेटी के जन्म की खुशियाँ गम में मिल गयी, परिजन कैलाश हॉस्पिटल की ओर भागे. मौत से परिजनों में कोहराम मच गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here