उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने एक बार फिर विवादित बयान देते हुए कहा है कि यही सही मौका है अब आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड और एआईएमआईएम के मुखिया असदउद्दीन ओवैसी पर प्रतिबंध लगा देना चाहिए.

वसीम रिजवी ने कहा कि यह सही वक्त है ओवैसी और मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड पर प्रतिबंध लगने का. उन्होंने अयोध्या पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले को सर्वश्रेष्ठ निर्णय बताया और कहा कि मैंने अपने जीवन में इससे बेहतर फैसला नहीं देखा. इस फैसले से सब खुश हैं, बस, मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड और ओवैसी इस फैसले से संतुष्ट नहीं है, ऐसे में ओवैसी और मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड पर प्रतिबंध लगा देना चाहिए.

शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने अब ओवैसी को लेकर एक और विवादित बयान दे दिया है. उन्होंने असदउद्दीन ओवैसी की तुलना आईएस के पूर्व मुखिया अबुबक्र बगदादी से कर डाली. रिजवी ने कहा कि दोनों का काम आतंक फैलाना है. ओवैसी अपनी जबान से लोगों को बरगलाकर आतंक फैला रहे हैं.

बता दें कि वसीम रिजवी शुरूआत से राम मंदिर के पक्ष में रहे हैं. शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने अयोध्या में भगवान राम मंदिर बनाने के लिए 51 हजार रुपये का सहयोग दिया है. उन्होंने राम जन्मभूमि न्यास को चेक भेजा है. अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट से आए फैसले का स्वागत करते हुए उन्होंने कहा कि अब राम की नगरी में प्रभु राम का भव्य मंदिर बनना चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here