भारत की ओर से टेस्ट और वनडे मैच खेल चुके वीआरवी सिंह ने क्रिकेट से रिटायरमेंट की घोषणा की है. विक्रम राज वीर सिंह का क्रिकेट करियर चोट से काफी प्रभावित रहा है. जिसके चलते उन्होंने अब रिटायरमेंट लेने का ही फैसला लिया है.

पंजाब के 34 वर्षीय वीआरवी सिंह ने भारत के लिए दो वनडे और पांच टेस्ट मैच खेले हैं. पांच टेस्ट में उन्होंने कुल 8 विकेट लिए. जबकि वनडे में उन्हें एक भी विकेट नहीं मिला. साल 2006 में उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहला टेस्ट खेला था.

वीआरवी आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब के लिए खेल चुके हैं. आईपीएल में साल 2008-2010 के बीच उन्होंने 19 मैच खेले जिसमें 12 विकेट लिए.

वीआरवी ने अपने इस रिटायरमेंट के निर्णय के बारे में एक इन्टरव्यू के दौरान बताते हुए कहा कि टीम से बाहर हो जाने के बाद मैने वापसी के लिए काफी कोशिशें की लेकिन पीठ की चोट के कारण वापसी नहीं कर सका. आप अपने आप को धोखा नहीं दे सकते. 2014 में सर्जरी होने के बाद कुछ सालों तक मैने खेला ही नहीं. साल 2018 में ट्रेनिंग के बाद मैने एक बार फिर खेलने का प्रयास किया मगर मैं सफल नहीं हो पाया.

वीआरवी ने संन्यास के फैसले पर कहा कि ये कोई एक रात में लिया गया फैसला नहीं है. मैने अपना सर्वश्रेष्ठ देने की बहुत कोशिश की मगर दुर्भाग्य से ऐसा हो नहीं पाया. इसके बाद मुझे अहसास हुआ कि अब संन्यास ले लेना चाहिए. तेज गेंदबाज ने 2014 में पंजाब के लिए रणजी ट्रॉफी में अपना आखिरी घरेलू मैच खेला था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here