भाजपा को 2019 लोकसभा चुनाव में हराने के लिए विपक्ष को मिली ये संजीवनी बूटी

0

आगामी लोकसभा चुनाव 2019 में पक्ष-विपक्ष जोर शोर से तैयारी करने में जुटे हुए है, सतारूढ़ सरकार भाजपा ने अपनी चुनाव रणनीति के तहत एक बार फिर राम मंदिर के लिए राग अलापना चालू कर दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर पर कहा- ये आने वाले साल जनवरी में तय होगा कि इसकी सुनवाई कैसे होगी? इसके बाद से ही भाजपा कांग्रेस को इसमें दोषी मानते हुए रडार पर लाने का प्रयास कर रही है.

आगामी लोकसभा चुनाव में ये मुद्दे विपक्ष के लिए संजीवनी बूटी का काम कर सकते है. इन मुद्दों के साथ वह अपने चुनावी अभियान में भाजपा को घेरने का काम कर सकती है.

राफेल खरीद मामला –

इस समय विपक्ष राफेल मुद्दे का जोर शोर से प्रचार कर रहा है, विपक्ष के इतना शोर मचाने के बाद अब तो सुप्रीमकोर्ट ने भी केंद्र सरकार से कहा दिया है कि आने वाले 10 दिनों के भीतर राफेल के बारे में सीलबंद लिफ़ाफ़े में जानकारी दे. जिसके बाद विपक्ष और हमलावर हो गयी है. इस मुद्दे में अगर विपक्ष को सफलता मिली तो आने वाले समय में भाजपा के लिए परेशानी खड़ी हो सकती है. इस मुद्दे को अपने चुनावी प्रचार में हथकंडा बनाते हुए विपक्ष मोदी पर हमलावर हो सकता है.

काला धन –

2014 में काले धन को विदेश से 100 दिनों में वापस लाने के वादे के साथ आई मोदी सरकार ने इसको वापस लाने में कोई रूचि नहीं दिखाई. 4 साल बीत जाने का बाद इस पर कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई. इसे विपक्ष आने वाले समय में चुनावी मुद्दा बना सकता है.

2 करोड़ रोजगार-

मोदी सरकार प्रतिवर्ष 2 करोड़ रोजगार के वादे के साथ सत्ता में आई थी, इसके बाद इस सरकार में बेरोजगारी की दर प्रतिवर्ष बढ़ी ही है. जिसके कारण बेरोजगारों की संख्या भरमार हो गयी है. सरकार रोजगार के मुद्दे पर पूरी तरह से विफल है. इसके अलावा महंगाई दर, पेट्रोल -डीजल की बढती कीमत इन मुद्दों पर सरकार को घेर सकती है.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here