कानपुर के बिकरू गांव प्रकरण के कुख्यात अपराधी विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे अब मीडिया के सामने आयी और कई बातों से पर्दा उठाया है. विकास जहां बिकरू गांव स्थित अपने किलेनिमा घर में रहता था तो वहीं ऋचा अपने बेटे के साथ लखनऊ में रहती है. ऋचा ने इस बात का खुलासा किया है कि आखिर वह अकेले लखनऊ में क्यों रह रही है.

ऋचा ने बताया कि विकास और उनके भाई दोस्त थे. उनकी मुलाकात घर पर ही हुई थी. विकास उनके घर पर काफी आने-जाने लगा था. ऋचा ने कहा कि तब लगा था कि साथ में रह सकते हैं.

उसने बताया कि 1996 में शादी करली. लेकिन गांव का माहौल कुछ अच्छा नहीं था. विकास हर रोज झगड़ा करता था. जब विकास को रोकने की कोशिश करती तो वो अभद्रता करता था. यही कारण रहा कि 1998 में वह अपनी मां के घर रहने चली गयी थी.

7 साल तक ऋचा अपने मां के घर रही. आगे बताया कि इस दौरान विकास दुबे बच्चों से मिलने के लिए वहां आता जाता था. वह भी गांव में जाती थी. ऋचा ने कहा कि लखनऊ में रहने लगी तो गांव कम ही जाती थी. वह गांव के 50 प्रतिशत लोगों को नहीं जानती है. बच्चों को लेकर जाती थी, सुबह जाती थी और शाम को वापस आ जाती थी.

ऋचा कहती है कि वो अपने बच्चों को बदमाश की औलान नहीं कहलाना चाहती थी. उनके जीवन का मकसद बच्चों को अपराध से दूर रखना था. बच्चों को काबिल बनाना था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here