चुनाव आयोग लोकसभा चुनाव की तैयारियों में व्यस्त है. चुनाव की तारीखों का एलान हो चुका है, आयोग ने ये साफ कर दिया है कि चुनाव ईवीएम से ही होंगे. रविवार को मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने प्रेस कांफ्रेंस करके बताया था कि इस बार सात चरणों में चुनाव कराए जाएंगे, 11 अप्रैल से चुनाव शुरू होंगे, नतीजे 23 मई को आएंगे. ईवीएम को लेकर 21 दलों ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दाखिल की थी. याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने चुनाव आयोग को नोटिस जारी कर दिया है, इस मामले की अगली सुनवाई 25 मार्च को होगी.

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में ये मांग की गई है कि वीवीपैट से निकली 50 फीसदी पर्चियों का औचक निरीक्षण किया जाए. याचिकाकर्ता ने कहा कि स्वस्थ लोकतंत्र के लिए निष्पक्ष चुनाव होना चाहिए और इसके लिए पुख्ता इंतजाम होना चाहिए.

जिन नेताओं ने ये याचिका दाखिल की है उनमेंं आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, शरद पवार, केसी वेणुगोपाल, डेरेक ओब्रायन, शरद यादव, अखिलेश यादव, सतीश चंद्र मिश्रा, एमके स्टालिन, टीके रंगराजन, मनोज कुमार झा, फारुख अब्दुल्ला, एए रेड्डी, कुमार दानिश अली, अजीत सिंह, मोहम्मद बदरूद्दीन अजमल, जीतन राम मांझी, प्रो. अशोक कुमार मिश्र आदि शामिल हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here