भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने अपने दौर को लेकर एक बड़ा बयान दिया है. उनका कहना है कि उन्होंने सीरीज में 700 से ज्यादा रन बनाए थे. इसके बावजूद उन्हें कप्तानी से हटा दिया गया था. ये उन्हें अब तक समझ नहीं आया है.

सुनील गावस्कर का यह बयान 1978-79 में भारत दौरे पर आई वेस्टइंडीज की टीम के साथ खेली गयी टेस्ट सीरीज को लेकर है. जिसमें भारत को जीत मिली थी. भारत ने छः मैचों की इस सीरीज को 1-0 से जीता था. इस सीरीज के बाद कप्तानी एस.वेंकटराघवन को सौंप दी गयी थी.

एक अंग्रेजी अखबार में लिखे कॉलम में गावस्कर ने कहा कि वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज जीतने के बाद भी मुझे कत्पनी से हटा दिया गया था, जबकि इस सीरीज में मैंने 700 से ज्यादा रन बनाए थे.

उन्होंने कहा कि मुझे अभी तक इसका कारण नहीं पता, लेकिन शायद मैं उस समय कैरी पैकर वल्ड सीरीज क्रिकेट से जुड़ने को तैयार था इसलिए शायद हटा दिया गया हो. चयन से पहले मैंने बीसीसीआई के साथ करार किया और बताया कि मैं किसके लिए वफादार हूं.

गावस्कर ने ये भी बताया कैसे उन्होंने बिशन सिंह वेदी को टीम में रखने के लिए समिति को मनाया था. उन्होंने कहा कि जब मैंने पाकिस्तान सीरीज के बाद कप्तान के तौर पर उनका स्थान लिया तब समिति उन्हें हटाना चाहती थी. मैंने कहा कि वह अभी भी देश में बाएं हाथ के सर्वश्रेष्ठ स्पिनर हैं. इसलिए उन्हें पहले टेस्ट में मौका मिलना चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here