भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी अपनी तेज तर्रार विकेटकीपिंग और धमाकेदार बल्लेब्बाजी के अलावा अपने मानवीय पहलू के लिए भी जाने जाते हैं. धोनी क्रिकेट मैदान के अंदर और बाहर दोनों ही जगह कुछ हटकर करते रहते हैं. फिर चाहे बात मैदान के अंदर अपने फैसलों से मैच का पासा पलटने की बात हो या फिर आर्मी ट्रेनिंग लेकर चौंकाना.

भारत के महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने धोनी के एक ऐसे ही अहम राज से पर्दा हटाया है. उन्होंने खुलासा किया है कि धोनी घरेलु उड़ान के दौरान बिजनेस क्लास में टीम इंडिया के साथी खिलाड़ियों के साथ नहीं बैठते थे. हालांकि इसकी वजह ये नहीं कि उन्हें अपने साथी खिलाड़ियों के साथ कोई समस्या है.

सुनील गावस्कर ने बताया कि भारतीय टीम के कप्तान होने के बावजूद महेंद्र सिंह धोनी विमान में इकॉनमी क्लास में टीवी कृ के साथ बैठना पसंद करते थे. भारतीय क्रिकेट टीम में ऐसी व्यवस्था है कि अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को ही बिजनेस क्लास में सफ़र के लिए सीट उपलब्ध होती है, लेकिन बेहतरीन प्रदर्शन करने के बाद भी धोनी बिजनेस क्लास में सफ़र नहीं करते थे.

गावस्कर ने बताया कि जैसा कि अधिकतर क्रिकेट प्रशंसक जानते हैं कि घरेलु मैचों में एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए दोनों टीमें एक ही चार्टर्ड विमान में सफ़र करती हैं. इसी विमान में टीवी कृ के सदस्य भी होते हैं. ऐसे में बिजनेस क्लास में सीमित सीटें होने के कारण कप्तान, कोच और मैनेजर को ही ये सुविधा उपलब्ध होती है. या फिर उन भारतीय खिलाड़ियों को बिजनेस क्लास में सीट मिलती है जो पिछले मैच में अच्छा प्रदर्शन कर चुके हैं.

उन्होंने कहा कि मगर महेंद्र सिंह धोनी कप्तान होने के बावजूद मुश्किल से ही बिजनेस क्लास में बैठते थे. वह इकॉनमी क्लास में टीवी कवरेज करने वाले लोगों और कैमरामैन के साथ बैठा करते थे.

धोनी के नक्शेकदम पर विराट

गावस्कर ने ये भी बताया कि मौजूदा भारतीय कप्तान विराट कोहली भी धोनी के नक्शेकदम पर चल्र हे हैं. उन्होंने कहा कि विराट कोहली भी मैच जिताने वाले गेंदबाज को बिजनेस क्लास में सीट ऑफर करने के बाद इकॉनमी क्लास में बैठ गए. ये छोटे-छोटे कदम टीम भावना को मजबूत करने का काम करते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here