समाजवादी पार्टी के दो वरिष्ठ नेताओं के निधन के बाद पार्टी में शोक की लहर है. प्रदेशभर के सपा कार्यालयों में दिवंगत सपा नेता एसआरएस यादव और जमुना प्रसाद बोस को श्रद्धांजलि देने का सिलसिला जारी है. कल सपा कार्यालय का झंडा भी आधा झुका दिया गया था.

आज समाजवादी पार्टी के हरदोई जिला कार्यालय में जिलाध्यक्ष जितेंद्र वर्मा उर्फ जीतू पटेल दोनों नेताओं के निधन पर दुख प्रकट करते हुए दो मिनट का मौन रखकर उन्हें श्रद्धांजलि दी और उनकी तस्वीर पर माल्यापर्ण किया. इस मौके पर जितेंद्र वर्मा ने कहा कि बोस जी का निधन समाजवादी पार्टी के लिए बड़ी क्षति है. उनका निधन एक युग का अंत है.

सपा जिलाध्यक्ष ने बताया कि बोस 2 बार मंत्री 4 बार विधायक रहे फिर उनका अपना कोई निजी घर नहीं था ये उनकी सादगी व ईमानदारी का सबसे बड़ा उदाहरण है हम समाजवादी लोग बोस जी के बताए रास्ते पर चलने का संकल्प लेते है.

जौनपुर स्थित समाजवादी कुटिया संचालक ऋषि यादव ने कुटिया में बच्चों के साथ दो मिनट का मौन रखकर दिवंगत सपा नेता जमुना प्रसाद बोस और एसआरएस यादव को श्रद्धांजलि दी.

सपा नेता ऋषि यादव ने कहा कि दोनों समाजवादी पुरोधाओं का अतुल्यनीय योगदान हम सभी को सदैव प्रेरित करता रहेगा. मुलायम सिंह यादव जब 1989 में पहली बार मुख्यमंत्री बने थे तब उन्होंने एसआरएस यादव को अपना विशेष कार्याधिकारी बनाया था.

वे पार्टी के राष्ट्रीय सचिव भी थे. संगठन में उनकी जबर्दस्त पकड़ थी, उनके निधन से पार्टी को अपूरणीय क्षति हुई हैं. उन्होंने कहा कि बांदा से समाजवादी नेता एवं पूर्व मंत्री जमुना प्रसाद बोस की कर्मठता, सादगी एवं ईमानदारी को जनता हमेशा याद रखेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here