सपा में प्रसपा के विलय को लेकर अखिलेश यादव की चुप्पी से चाचा शिवपाल सिंह यादव की बेचैनी बढ़ गई है. वह बिना किसी शर्त के भतीजे संग मिलकर यूपी में समाजवादी पार्टी की सरकार बनाना चाहते है. इसके लिए उन्होंने सपा संरक्षक मुलायम सिंह के जन्मदिवस के रुप में दिन को भी चुना है. बकौल शिवपाल सिंह इस दिन को हम लोग एकता दिवस के रुप में मनाने जा रहे हैं.

शिवपाल यादव का दावा है कि इस दिन सभी लोग साथ में होंगे और सभी लोग एक साथ बैठेंगे. गौरतलब है कि प्रसपा मुखिया शिवपाल सिंह यादव इस समय पूरे परिवार को एकजुट करने में लगे हुए हैं. हालांकि अखिलेश यादव की तरफ से किसी प्रकार की प्रतिक्रिया नहीं आई है.

शिवपाल यादव ने कहा कि यूपी में जब भी समाजवादी पार्टी की सरकार बनी तो सभी लोगों का योगदान रहा है, इस बात को नहीं भु लाया जा सकता है. हमारा प्रयास है कि सभी लोग अभी से ही साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव के अभियान में जुट जाएं. जिससे सपा की सरकार वापस आए.

इस दौरान शिवपाल सिंह का दर्द उनकी जुबां पर आ गया. उन्होंने कहा कि हम सभी चाहते हैं कि सभी लोग एक हों व पूरी ताकत से विधानसभा चुनाव लड़ें और अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाने के लिए मेहनत करें. हालांकि सपा मुखिया अखिलेश यादव की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. गठबंधन को तैयार शिवपाल यादव ने सपा में प्रसपा के सवाल पर कहा कि कोई बात तो करे, जब बात होगी तो आगे देखा जाएगा. हमारा प्रयास होगा कि फिर से हम सबको एक करके आगे बढ़ दें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here