शनिवार की सुबह महाराष्ट्र की धरती पर जो हुआ. उसकी चर्चा पूरे देश में हो रही है. शायद मुंबई के लोग सोकर भी नहीं उठे होंगे, उसके पहले ही उन्हें महाराष्ट्र का नया सीएम मिल चुका था. बीजेपी के देवेंद्र फडनवीस ने सीएम के रुप में शपथ ली, वहीं अजीत पवार ने डिप्टी सीएम के रुप में शुथ ली. लेकिन उस समय जबर्दस्त मोड़ आया जब पार्टी मुखिया शरद पवार ने कहा कि ये अजीत पवार का निजी फैसला है.

हालांकि इस बीच खबरें आने लगी कि जब एनसीपी के ओर से अजीत पवार एनसीपी विधायक दल के नेता के रुप में चुना गया. ऐसे में उनके समर्थन में एनसीपी का समर्थन माना जा सकता है. इस मामले में बीजेपी नेता आशीष चैल्लार ने कहा कि सुप्रीमकोर्ट जो भी कहेगा हम उसका पालन करेंगे, लेकिन राज्यपाल ने हमें 30 नवंबर तक का समय दिया. कहा कि हम 170 विधायकों के साथ बहुमत साबित करेंगे.


वहीं एनसीपी नेता छगन भुजबल ने कहा कि हमारे पास 50 विधायक हैं. 1-2 और भी लोग आ रहे हैं. सभी विधायकों को एक साथ रखा गया है. एनसीपी-कांग्रेस-शिवसेना की सरकार महाराष्ट्र में बनेगी. वहीं शिवसेना नेता संजय राउत ने दावा किया है कि उनके साथ 165 विधायक हैं. राज्यपाल कहें तो हम 10 मिनट में बहुमत दिखा सकते हैं.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here