पूर्व ऑस्ट्रेलियाई ऑल राउंडर शेंट वाटसन जबरदस्त ऑल राउंडर क्रिकेटर हैं. वह अपने दम पर मैच को पटलने का दमखम रखते हैं. कंगारू खिलाड़ी ने पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और स्टीफन फ्लेमिंग का कर्जदार बताया है. उनका कहना है कि खिलाड़ियों की क्षमता पर भरोसा करना चेन्नई सुपर किंग्स की कामयाबी का राज है.

38 वर्षीय शेन वाटसन ने चेन्नई सुपर किंग्स के इन्स्टाग्राम लाइव पर कहा कि आप 10 मैचों में रन नहीं बनाते हैं और फिर भी आप टीम में बने रहते हैं. पिछले सीजन में मुझ पर विश्वास बनाए रखने के लिए शुक्रिया एमएस धोनी और स्टीफन फ्लेमिंग.

शेन वाटसन आईपीएल का सबसे पहला खिताब जीतने वाली राजस्थान रॉयल्स का हिस्सा थे. जिसके बाद वह 2018 में चैम्पियन बनने वाली चेन्नई सुपर किंग्स में शामिल थे. फाइनल मुकाबले में वाटसन ने 57 गेंदों पर 117 रनों की विस्फोटक पारी खेली थी. जिसमें उनके 11 चौके और 8 छक्के शामिल हैं.

चेन्नई पिछले सीजन में भी फाइनल में पहुंची थी और मुंबई इंडियंस के साथ फाइनल मुकाबला खेला था. जिसमें वाटसन ने 59 गेंदों पर 80 रनों की पारी खेली थी.

वाटसन ने कि इस दौरान दुर्भाग्यवश मुझे लगा कि मैं अच्छी बल्लेबाजी कर रहा था. लेकिन मैं रन नहीं बना पा रहा था और टीम में बना हुआ था. कई मैचों में असफल रहने के बाद मुझे लगा कि वे मुझे टीम से निकालने जा रहे हैं, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया.

धोनी और फ्लेमिंग को वाटसन ने शुक्रिया कहा. उन्होंने कहा कि फिर चीजें बदल गयीं, जो कि मुझे पता था कि ऐसी चीजें होंगी. इसके लिए मैं एमएस धोनी और फ्लेमिंग को धन्यवाद देना चाहूंगा, जिन्होंने मुझ पर विश्वास बनाए रखा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here