सभी बैंकिंग खाताधारक ध्यान दें, बैंकिंग सेवाओं में होने जा रहे हैं ये बड़े बदलाव…

0


अगर आप का खाता किसी बैंक में है और आप एटीएम कार्ड या इंटरनेट के माध्यम से लेनदेन करते हैं तो ये खबर आपको जरूर पढ़नी चाहिए. दरअस्ल भारतीय रिजर्व बैंक ने सभी बैंकों को ये निर्देश दिए हैं कि 31 दिसंबर तक सभी बैंक मैग्नेटिक स्ट्राइप आधारित डेबिट कार्ड को हरहाल में बंद कर दे. यह चेतावनी इसलिए जारी की गई है कि इस तरह के कार्ड की क्लोनिंग करके बैंक फ्रॉड की घटनाओं में तेजी से वृद्धि हो रही है.

इस धोखाधड़ी पर लगाम लगाने के लिए अब मैग्नेटिक स्ट्राइप वाले कार्डां के स्थान पर चिप आधारित डेबिट कार्ड सभी ग्राहकों को जारी किए जाएंगे. यदि आप के पास भी पुराना एटीएम कार्ड है तो समय रहते आप भी अपना पुराने कार्ड को बदलवाकर नया एटीएम कार्ड प्राप्त कर लें ताकि आपको किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो.

इसके अलावा भारतीय स्टेट बैंक एक नवंबर से एटीएम के माध्यम से नकद निकासी की सीमा 40 हजार से घटाकर 20 हजार करने जा रहा है. इसके पीछे बैंक का तर्क है कि ऐसा करने से लोग नकद लेनदेन करने के बजाय ऑनलाइन कैशलेस लेनदेन को प्राथमिकता देने लगेंगे.

इसके अलावा भारतीय स्टेट बैंक अपनी मोबाइल बैंकिंग सेवाओं में भी बदलाव करने जा रहा है. एसबीआई अपने सभी ग्राहकों को जागरूक करने के लिए इस बात का तेजी से प्रचार-प्रसार कर रहा है कि अगर आपने अपने खातें में अपना मोबाइल नंबर नहीं लिंक कराया है तो आपकी इंटरनेट बैंकिग या ऑनलाइन बैंकिंग सेवाओं पर 31 दिसंबर के बाद से रोक लगा दी जाएगी.

स्टेट बैंक अपनी मोबाइल वॉलेट सुविधा एसबीआई बडी को भी एक नवंबर से बंद करने जा रहा है. इन सब बदलावों के पीछे तर्क यह दिए जा रहे हैं कि इससे बैंक फ्रॉड की संभावनाओं को कम करने के मकसद से यह जरूरी एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं. यह सभी निर्णय उपभोक्ता हितों को ध्यान में रखकर लिए जा रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here