कोरोना वायरस से बचाव के लिए सबसे जरूरी उत्पाद मास्क, सैनिटाइजर और काढ़े को टैक्स फ्री करने की मांग उठा रहे समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार की ओर से दिए गए गोलमोल जवाब के बाद आज इन तीनों वस्तुओं पर फूल अगरबत्ती चढ़ाकर श्रद्धांजलि दी. उन्होंने कहा कि सरकार की संवेदनहीनता की वजह से ये सभी जरूरी वस्तुएं गरीब आदमी की पहुंच से दूर हो गई इसीलिए इन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं.

सपा व्यापार सभा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और उत्तर प्रदेश प्रांतीय व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता ने कहा कि इस वक़्त मास्क, सैनिटाइजर व काढ़े पर जीएसटी लगाना, देश के 133 करोड़ लोगों की मजबूरी का फायदा उठाना हुआ. ये तीनों वस्तुएं इस कोरोना आपदा में मददगार हैं न कि विलासिता की वस्तुएं हैं जो इनपर टैक्स लगाया जा रहा है.

अभिमन्यु गुप्ता ने कहा कि आपदा में अवसर देखने की बात कहकर मोदी सरकार तो मज़बूरी में फायदा देखने का काम कर रही है. जनता इस वक़्त महामारी से डरी हुई है. आज देश मे 16 लाख संक्रमण के मामले आ चुके हैं. इस वक़्त तो बचाव की वस्तुओं को आवश्यक माना जा रहा है पर उसके बावजूद इतना लम्बा चौड़ा जीएसटी स्लैब लगाकर सरकार इन वस्तुओं को केवल पूंजीपतियों या संभ्रांत लोगों की ही पहुंच तक सीमित कर रही है.

उन्होंने कहा कि जो गरीब बमुश्किल अपना पेट पालता है वो 18 प्रतिशत जीएसटी वाला सैनिटाइजर या 12 प्रतिशत जीएसटी वाला काढा कहाँ से और कब तक खरीदेगा. जनता कोरोना के अलावा महंगाई से भी भयंकर त्रस्त है. सपा नेता संजय बिस्वरी ने मांग रखी की जब तक कोरोना महामारी खत्म नहीं होती तब तक मास्क, सैनिटाइजर, काढा व कोरोना से लड़ने में फायदेमंद हर वस्तु जीएसटी मुक्त की जाए.

प्रान्तीय व्यापार मण्डल के कानपुर नगर अध्यक्ष जितेंद्र जायसवाल ने कहा कि 20 लाख करोड़ के पैकेज से मास्क, सैनिटाइजर व काढ़े के निशुल्क वितरण का कार्यक्रम भी किया जाए. इस मौके पर अभिमन्यु गुप्ता, संजय बिस्वारी, जितेंद्र जायसवाल, सहज प्रीत सिंह, अंकुर गुप्ता, ऋषभ भट्ट, अभिषेक शर्मा, धर्मेंद्र यादव, भगीरथ सिंह आदि थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here