समाजवादी पार्टी व्यापार सभा और उत्तर प्रदेश प्रांतीय व्यापार मंडल से जुड़े व्यापारियों का आज पाकिस्तान की इमरान सरकार के खिलाफ गुस्सा फूट पड़ा. व्यापारियों ने पाक पीएम इमरान खान और पाकिस्तान के झंडे को फूंक दिया और भारत सरकार से पूरे मामले में दखल देने की मांग कर डाली.

सपा व्यापार सभा के प्रदेश महासचिव अभिमन्यु गुप्ता और हरप्रीत सिंह लवली के नेतृत्व में हुए इस प्रदर्शन में सिख समुदाय ने पवित्र तीर्थ स्थल करतारपुर में सरकारी दखलअंदाजी को कायराना व तानाशाही हरकत बताते हुए कहा कि इस मामले में भारत सरकार को दखल देना चाहिए. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान द्वारा सिखों के पवित्र तीर्थस्थल करतारपुर गुरुद्वारे का रखरखाव व प्रबंधन सरकारी संस्था को दिये जाने से सिखों की धार्मिक आस्था को आहत पहुंची है.

सपा व्यापार सभा के प्रदेश महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रान्तीय व्यापार मण्डल के प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता ने कहा की पाकिस्तान का ये तानाशाह कायराना कदम है. पाकिस्तान में अल्पसंख्यक सिख समाज की धार्मिक परम्पराओं पर इस तरह की दखलंदाजी मानवता के अधिकारों के विरुद्ध है. अभिमन्यु गुप्ता ने कहा की भारत सरकार को तत्काल हस्तक्षेप करके पाकिस्तान सरकार द्वारा ऐसी किसी कार्यवाही का पुरजोर विरोध करना चाहिए.

सपा व्यापार सभा के नगर अध्यक्ष व प्रान्तीय व्यापार मण्डल के प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष हरप्रीत भाटिया लवली ने इसे सिख समुदाय के लोगों की धार्मिक भावना आहत करने वाला कदम बताया. पाकिस्तान सरकार ने करतारपुर का पूरा नियंत्रण व प्रबंधन छीनकर ऐसी सरकारी संस्था को सौंपा है जिसका गठन बंटवारे के दौरान भारत आए लोगों को खाली पड़ी संपत्तियों की देखभाल के लिए किया गया था. यह संगठन प्रोजेक्ट मैनेजमेंट यूनिट व्यापारिक लाभ के उद्देश्य से काम करता है और सीधे आईएसआई से नियंत्रित है.

सिख समाज के व्यापारी नेता राजिंदर सिंह नीटा के कहा की यह निर्णय हाल ही में खोले गए करतारपुर साहिब गलियारे के विरुद्ध है. पूरा सिख समाज इमरान खान का विरोध कर रहा है. इस मौके पर अभिमन्यु गुप्ता, हरप्रीत भाटिया लवली, संजय बिस्वारी, राजिंदर सिंह नीटा, विनय कुमार, शेषनाथ यादव, इंद्रपाल सिंह, कुलदीप सिंह, हनी सेठी, गोल्डी भाटिया, सहज प्रीत सिंह, मो इमामुद्दीन आदि थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here