अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर सपाइयों ने केंद्र सरकार को घेरा, कहा गलत नीतियों से सब हुआ चौपट

0

देश में अर्थव्यवस्था और रोजगार की क्या स्थिती है ये बात किसी से छिपी नहीं है. देश की जीडीपी 8 प्रतिशत से गिरकर 5 प्रतिशत तक पहुंच गई है. इसका सीधा असर देश के कारोबार पर पड़ा है. मंदी की वजह से अबतक लाखों लोगों की नौकरियां जा चुकी हैं. सरकार की ओर से प्रयास किया जा है मगर फिलहाल वो नाकाफी दिखाई दे रहा है.

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने अर्थव्यवस्था की इस हालत के लिए केंद्र की मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने कहा है कि सरकार की गलत नीतियों के कारण देश और प्रदेश को चौपट कर दिया गया है. हर सेक्टर में गिरावट है इस सबके बावजूद सरकार सौ दिन का कार्यकाल पूरा होने का जष्न मना रही है.

जो प्रोजेक्ट समाजवादी सरकार ने शुरू किए थे उन्हें भी पूरा नहीं किया जा सका है. सिर्फ बड़ी-बड़ी बातें करके देश की जनता को गुमराह किया जा रहा है.

अखिलेश ने कहा कि भाजपा की नीतियों ने व्यापार खत्म कर दिया. इन्फ्रास्ट्रक्चर गड़बड़ा गया, मंहगाई बढ़ गई, रूपया सबसे निचले स्तर पर है, नौजवानों को रोजगार नहीं मिला है, उद्योग बंदी के कगार पर है, किसानों की मदद नहीं हो रही है, बिजली, डीजल-पेट्रोल सब महंगा है, निर्यात खत्म है, आयात बढ़ता जा रहा है.

समाजवादी पार्टी यूथ बिग्रेड के निवर्तमान प्रदेश सचिव मारूफ अंसारी ने कहा कि प्रदेश भ्रष्टाचार, अपराध व बेरोजगारी का शिकार है. आजादी के बाद इस सबसे बुरे दौर में लोगो के हाथों में पैसा नहीं है काम कारोबार बंद हो रहे हैं ऐसे में भ्रष्टाचार और अपराध को सत्ता का संरक्षण एक एक बड़े जन आक्रोश को जन्म दे रहा है.

मारुफ ने बयान में कहा कि सरकार का दायित्व संविधान की रक्षा करना है. यदि सरकार के मनमाने रवैया पर रोक नही लगी तो लोकतंत्र मजाक बन कर रह जाएगा. ऐसे में विकास की बात करना मूर्खता होगी सरकार में लोग दहशत के साए में जीने को मजबूर हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here