वित्त मंत्रालय आरबीआई से ऊपर है , आप उनके कामों को मना नहीं कर सकते – मनमोहन सिंह

0

केंद्रीय बैंक और सरकार किए बीच चल रहे टकराव के बीच मनमोहन सिंह का एक बड़ा बयान सामने आ गया है, जिसमें मनोहन सिंह ने वित्त मंत्रालय को आरबीआई से बड़ा ओहदा दिया है. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अपनी बेटी दमन सिंह द्वारा लिखी गयी पुस्तक  ‘स्ट्रिक्टली पर्सनल : मनमोहन एंड गुरशरण’ में कहा है कि आरबीआई या उसका गवर्नर सरकार के किसी भी आदेश को मना नहीं कर सकता है.

उन्होंने इस किताब में बतौर आरबीआई गवर्नर रहते हुए अपनी बातें शेयर की है. उन्होंने कहा कि जब मैं गवर्नर था उस समय भी हमको सरकार को भरोसे में लेना पड़ता था. आप सरकार के किसी भी आदेश की अवहेलना नहीं कर सकते हो.

सरकार के किसी भी आदेश को आपके पद में रहते हुए करना पड़ता है, उनके आदेश को दरकिनार कर अप अपनी नहीं चला सकते, ये सब मैंने भी किया था. जब तक आरबीआई गवर्नर के रूप में आप कुर्सी पर शोभायमान है तब तक आपको सरकार के अनुसार ही चलना पड़ेगा.

बता दे कि आरबीआई और केंद्र सरकार के बीच स्वायत्तता को लेकर टकराव चल रहा है, इस स्थिति में सरकार और बैंक गवर्नर के बीच संवाद नहीं स्थापित हो रहे है, जिसके लिए उर्जित पटेल ने केंद्र सरकार की नीतियों को बताया है. सरकार के द्वारा दिए गए तीन बिन्दुओं पर आरबीआई से गौर करने के लिए कहा था, उर्जित पटेल ने साफ तौर पर इन बिन्दुओं को मानने से इनकार कर दिया था. जिसके बाद से उनके इस्तीफे की भी सुगबुगाहट आने लगी थी.

इसी मामले में पुर्व गवर्नर रघुराम राजन की अलग राय है, उन्होंने कहा कि मैं आरबीआई और उर्जित पटेल के समर्थन में हूँ. उनका कहना है कि सर्कार की ओर से एक विशेष बोर्ड का गठन किया जाता हैं, जो बैंको को सुझाव देने का काम करता है. इसके अलावा रोजमर्रा के कामों में सरकार को दखल नहीं देना चाहिए.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here