अखिलेश यादव के रामपुर जाने से पहले आई नई मुसीबत सामने, सपाइयों को नहीं हो रहा यकीन

0

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रिय अध्यक्ष अखिलेश यादव का 9 सितंबर को रामपुर जाना तय है. वह 9 और 10 सितंबर को रामपुर में ही रहेंगे. अखिलेश पार्टी के सांसद मोहम्मद आजम खान और उनके परिजनों व कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे. ऐसे में सियासी सरगरमी बढ़ गयी है. रामपुर एक सियासी अखाड़े के रूप में बदलता दिखाई दे रहा है.

एक तरफ जहां जिले में धरा 144 लगी है, तो दूसरी ओर कांग्रेसी नेताओं ने अखिलेश के दौरे का विरोध करना शुरू कर दिया है. याद दिला दें कांग्रेस और सपा ने विधानसभा चुनाव 2017 एक साथ मिलकर लड़ा था.

उत्तर प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष मुतिउर्रहमान बबलू ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र भेजकर सपा अध्यक्ष अखिलेश को रामपुर आने से रोकने की अपील की है. उनका कहना है कि अखिलेश यादव के आने से रामपुर का माहौल बिगड़ सकता है.

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने लिखा है कि अखिलेश यादव को ष’ड्यन्त्र के तहत बुलाया जा रहा है, आजम खान की राजनीति सा’म्प्रदायिक रही है.

गौरतलब है कि सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने लखनऊ में आजम खान के पक्ष में प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी. जिसमें उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से आजम के समर्थन में आ’न्दोलन करने का आव्हान किया था. जिसके बाद ही अखिलेश ने रामपुर जाने का फैसला किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here