कृषि कानूनों को लेकर किसान संगठनों और सरकार के बीच गतिरोध जारी है. इस बीच पश्चिम बंगाल पहुंचे भारतीय किसान यूनियन नेता राकेश टिकैत ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा. साथ बंगाल की जनता से अपील की कि वह बीजेपी को वोट न करे. टिकैत किसान आंदोलन को तेज करने के लिए अलग-अलग राज्यों में महापंचायत कर रहे हैं.

पश्चिम बंगाल में राकेश टिकैत ने कहा कि अगर केंद्र सरकार बात नहीं सुनती है तो संगठनों का अगला निशाना संसद होगी.

उन्होंने का कहा कि जिस भी दिन संयुक्त मोर्चा फैसला लेगा, उस दिन संसद के बाहर ही नयी मंडी खुल जाएगी. कहा कि हमारे पास 3.5 लाख ट्रैक्टर और 25 लाख किसान हैं. अगला लक्ष्य संसद से फसल बेचने का होगा.

राकेश टिकैत ने कहा कि पीएम मोदी भी कह चुके हैं कि किसान अपनी फसलों को मंडी के बाहर बेच सकते हैं. मुझे लगता है कि संसद में मंडी बेहतरीन होगी. व्यापारी अंदर बैठे, किसान बाहर. खरीदारी पक्का होगी.

टिकैत ने आरोप लगाया कि केंद्र में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार किसानों और उनके आंदोलन की रीढ़ तोड़ने पर आमादा है. कहा कि यह जन विरोधी सरकार है. भाजपा को वोट मत देना. अगर उन्हें वोट दिया गया तो वे आपकी जमीन बड़े कॉरपोरेट्स और उद्योगों को दे देंगे और आपको भूमिहीन बना देंगे. वे आपकी आजीविका दांव पर लगाकर देश के बड़े उद्योगपति समूह को जमीन सौंप देंगे और आपको खतरे में डाल देंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here