सपा प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी के नाम से जारी पत्र की क्या है सच्चाई, जान लें आप भी

0
image credit-getty

लोकसभा चुनाव परिणाम आने के बाद से ही समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव की तरफ से ये कहा जा रहा था कि जल्द ही कुछ बड़े और कड़े फैसले लेकर पार्टी के संगठन में बदलाव किया जाएगा. आज सुबह से ही सोशल मीडिया पर समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी के नाम से एक पत्र वायरल हो रहा है, जिसमें कई जिलों की कार्यकारिणी के भंग होने की सूचना है.

इस पत्र के अनुसार अखिलेश यादव  ने तत्काल प्रभाव से 85 जिला महानगर अध्यक्ष इकाइयां और 14 प्रकोष्ठों को भंग कर दिया है. सपा की ओर से जारी प्रेसनोट में पार्टी के वरिष्ठ नेता राजेंद्र चौधरी के हवाले से इस फैसले की जानकारी दी गई है. ये प्रेसनोट सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है हालांकि अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि होना बाकी है.

image credit-getty

वायरल प्रेसनोट के मुताबिक फिरोजाबाद, मैनपुरी, कन्नौज, बदायूं, रामपुर, आजमगढ़, अमेठी और रायबरेली की जिला महानगर इकाइयों को बरकरार रखा गया है. इससे पहले लोकसभा चुनाव परिणाम आने के बाद ही अखिलेश यादव ने पार्टी के मीडिया पैनलिस्ट टीम को भंग कर दिया था.

ये है सच्चाई

अखबार टाइम्स के संपादक ने जब इस बारे में समाजावादी पार्टी कार्यालय में संपर्क किया, और इस बारे में पूछा तो सीधे तौर पर कहा गया कि ये जो भी कुछ सोसल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है, वह फेक है. इस तरह का कोई भी फैसला अभी तक पार्टी ने नहीं लिया है.

बता दें कि लोकसभा चुनाव परिणाम के बाद से ही से कयास लगने शुरू हो गए थे कि पार्टी में बड़ा फेरबदल हो सकता है. अखिलेश यादव ने हार के कारणों की विस्तृत रिपोर्ट तैयार करवाई है.

गौरतलब हो कि यूपी में जल्द ही विधानसभा उपचुनाव होने हैं. चुनाव आयोग की ओर से अभी तारीखों का एलान नहीं किया गया है मगर नियम के मुताबिक सीट खाली होने के 6 माह के भीतर चुनाव हो जाने चाहिए. सभी राजनैतिक पार्टियां उपचुनाव की तैयारियों में जुटी हुई हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here