कानपुर के बिकरू गांव की घटना के मुख्य आरोपी विकास दुबे को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया. विकास को कल बेहद नाटकीय ढंग से उज्जैन के महाकाल मंदिर से मध्यप्रदेश पुलिस ने गिरफ्तार किया था. विकास दुबे की गिरफ्तारी से लेकर एनकाउंटर पर अब सवाल उठ रहे हैं.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पूरे मामले पर सवाल उठाते हुए कहा है कि उप्र की कानून-व्यवस्था बदतर हो चुकी है. राजनेता-अपराधी गठजोड़ प्रदेश पर हावी है. कानपुर कांड में इस गठजोड़ की सांठगांठ खुलकर सामने आई. कौन-कौन लोग इस तरह के अपराधी की परवरिश में शामिल हैं ये सच सामने आना चाहिए. सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा जज से पूरे कांड की न्यायिक जाँच होनी चाहिए.

प्रियंका के अलावा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस घटना को लेकर सरकार पर तंज कसते हुए कहा है कि कई जवाबों से अच्छी है खामोशी उसकी, न जाने कितने सवालों की आबरू रख ली.

बताया जा रहा है कि विकास की गिरफ्तारी के बाद यूपी एसटीएफ उसे मध्यप्रदेश से कानपुर ला रही थी. पुलिस के अनुसार कानपुर के बेहद करीब विकास को ला रही गाड़ी अचानक पलट गई. इसके बाद विकास दुबे ने पुलिस से हथियार छीनकर भागने की कोशिश की. इसके बाद पुलिस ने मुठभेड़ में उसे मार गिराया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here