भारत को टी-20 वर्ल्डकप दिलाने वाले धोनी का क्या टी-20 करियर अब ख़त्म हो गया

0

भारतीय टीम ने 2007 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में वर्ल्ड टी-20 पर कब्ज़ा जमाया था. इसके बाद ही उन्होंने अपने क्रिकेट करियर को बुलंदियों पर पहुंचाया. वहीँ मौजूदा वक्त में धोनी अपनी बल्लेबाजी की ख़राब फॉर्म से गुजर रहे हैं. जिसके चलते उनका चयन वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाली टी-20 सीरीज के लिए नहीं हुआ.

पहली बार हुए ड्रॉप 

यह पहला मौका है जब धोनी को टीम से ड्रॉप किया गया. हालांकि मुख्यचयनकर्ता एमएसके प्रसाद का कहना है कि उन्हें आराम दिया गया और दूसरे विकेटकीपर की तलाश की जा रही है. पर धोनी के प्रशंसकों का कहना है कि आराम एक सीरीज में दिया जा सकता था दोनों में क्यों दिया गया.

धोनी की जगह रिषभ पंत को विकेटकीपर के तौर पर टीम में जगह मिली है. साथ ही दिनेश कार्तिक भी दोनों सीरीज के लिए टीम में चुने गए. धोनी ने पहला टी-20 मैच 2006 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेला था. अब तक वह कुल 93 टी-20 मैच खेल चुके हैं. जिसमें उन्होंने 37.17 की औसत से 1487 रन बनाए. उच्चतम स्कोर उनका 56 रन है. हालांकि बड़ा स्कोर न होना उनका बल्लेबाजी क्रम भी है. 93 मैचों में धोनी ने 72 टी-20 बतौर कप्तान के तौर पर खेले.

हालांकि आज धोनी की बल्लेबाजी फॉर्म पर भले ही सवाल उठ रहे हों पर विकेटकीपिंग में आज भी भारत के पास उनका दूसरा विकल्प मौजूद नहीं है. आज भी धोनी के हाथ विकेट के पीछे बिजली की तरह तेज हैं. चयनकर्ता एमएसके प्रसाद से जब पूछा गया कि क्या धोनी का टी-20 करियर अब ख़त्म हो गया तो उनका जवाब था ‘अभी नहीं’. पर साथ ही उन्होंने कहा कि दूसरे विकेटकीपर के लिए हम अन्य विकेटकीपरों को देखना चाहते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here