image credit-social media

उत्तर प्रदेश के कानपुर में अपराधियों से एनकाउंटर में कई जवान शहीद हो गए हैं. इन्हीं जांबाजों में एक शिवराजपुर थाने के एसओ महेश यादव भी थे, बताते हैं कि जब अपराधियों ने गोलियां चलानी शुरु की तो उन्होंने एक फोन कर बाकी पुलिसकर्मियों की जान बचाई.

उन्होंने गोलियों से बचाते हुए किसी तरह थाने के एएसआई को फोन किया और कहा कि हम लोगों को बदमाशों ने घेर लिया है, हम फंस गए हैं चारों तरफ से गोलियां चल रही हैं, अब बचना मुश्किल है जल्द से जल्द फोर्स भेजें. एसओ महेश यादव के एक फोन काल के बाद भारी फोर्स के सात आला अफसर पहुंचे जिससे अन्य पुलिसकर्मियों की जान बचाई जा सकी.

गौरतलब है कि विकास दुबे के घर में दबिश देने वाली टीम में सबसे आगे महेस यादव थे. हमला होते ही उन्होंने मोर्चा लेने की कोशिश की. लेकिन बदमाशो की एक फायर के आगे एक-एक कर पुलिसकर्मी गिरने लगें. इस दौरान किसी तरह महेश यादव एक कमरे में छिप गए. यहीं से उन्होंने थाने के एसएसआई को फोन कर घटना की जानकारी से अवगत कराया.

पुलिसकर्मियों के अनुसार शिवराजपुर एसओ महेश यादव गोली लगते ही गिर गए थे. इसके बाद भी अपराधी नहीं मानें इसके बाद भी कई ताबड़तोड़ गोलियां चलाई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here