बड़ी खबरः शिक्षा के मंदिर में झाडू लगाते बच्चों की फोटो खींचने वाले पत्रकार को जे’ल

0

देश के चौथे स्तंभ जिसको समाज की सच्चाई दिखाने का हक प्राप्त है. लेकिन आज वही पत्रकार जो सच्चाई दिखाने को अग्रसर होते हैं वही सा’जिश का शिकार होते हुए दिखाई दे रहे है.

मिर्जापुर में नमक-रोटी देने वाले पत्रकार का मामला अभी ठंड़ा नहीं हुआ था, अब एक और मामला आ गया है जिसमें फूलपुर पुलिस ने पत्रकार को जे’ल भेज दिया है, पत्रकार की गलती इतनी थी कि उसने शिक्षा के मंदिर में बच्चों की झाड़ू लगाते हुए फोटो को अपने कैमरे में कैद कर लिया था.

गौरतलब है कि पत्रकार संतोष जायसवाल शुक्रवार की सुबह स्वच्छता अभियान के तहत फूलपुर शिक्षा क्षेत्र के बीआरसी कैंपस स्थित एक खबर को कवर करने गया हुआ था. मौके पर छात्रों द्वारा झाड़ू लगाने की फोटो को उसने अपने कैमरे में तो कैद कर लिया.

लेकिन वहां पर मौजूद अध्यापकों को उसकी ये हरकत नागवार गुजरी. उन लोगों ने पत्रकार को चारों ओर से घेर लिया. और मोबाइल को छीनने का प्रयास करने लगे, असफल होने पर वह मा’रने-पी’टने लगे.

बचाव के लिए संतोष ने डायल 100 को फोन कर दिया. मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मियों के बोल भी शिक्षकों की तरफ निकलने लगें.

संतोष ने आरोप लगाया कि मेरी सूचना पर पहुंचे पुलिसकर्मियों ने शिक्षकों से उल्टी तहरीर लेकर मुझे ही फूलपुर कोतवाली ले आए. वहां पर प्रभारी ने उसके साथ अभद्रता और मार’पीट की. शिक्षकों से तहरीर लेकर आई पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जे’ल भेजने की तैयारी कर दी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here