ज़रूर जानें, इराक में आखि़र क्यों करोड़ों लोग कर रहे हैं ये पैदल सफ़र

0


मौजूदा समय में भारत सहित दुनियाभर के लगभग 80 देशों से करोड़ों लोगों के इराक पहुॅचने का सिलसिला जारी है. ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है बल्कि पिछले कई सालों से लगातार होता आ रहा है. हर साल ये लोग इमाम हुसैन के चेहल्लम के दिन यानी 20 सफर को (इस्लामी महीने के अनुसार) इराक के शहर कर्बला स्थित इमाम हुसैन की मज़ार पर ज़ियारत करने पहुॅचते हैं.

दुनिया के सबसे ख़तरनाक आतंकी संगठन आईएसआईएस की धमकी के बावजूद भी जायरीनों (भक्तों) पर कोई असर नहीं पड़ा है. इराक के शहर कर्बला से लगभग 80 किलोमीटर की दूरी पर स्थित नजफ नामक शहर से ये जायरीन पैदल सफर करके कर्बला पहुॅचते हैं. इस दौरान इस रास्तों पर बेहद कड़ा पहरा लगा रहता है. जायरीनों की खि़दमत के लिए पूरे रास्ते पर इराकी अवाम ने खाने-पीने, आराम करने के लिए 1500 से अधिक कैंप लगाए हैं जिसकी सराहना सभी मेहमान करते हैं.

इराक से मिली ख़बर के मुताबिक वहॉ की स्थानीय अवाम उस 80 किलोमीटर के दायरे में करोड़ों लोगों के लिए सभी तरह के ऐसे इंतेजाम करती है कि किसी को भी किसी प्रकार की कोई कमी महसूस ही नहीं होती. यह एक ऐतिहासिक यात्रा है क्योंकि पूरी दुनिया में कहीं पर भी इतनी बड़ी संख्या में इतनी दूरी का पैदल मार्च नहीं होता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here