ईरान से तेल आयात पर अमेरिका का रूख नरम, भारत समेत 8 देशों को इस शर्त के साथ मिली छूट

0


इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कूटनीति कहें या अमेरिका की मजबूरी, अमेरिका ने भारत समेत आठ देशों को ईरान से तेल आयात करने की छूट देनें का फैसला कर लिया है. ईरान पर अमेरिका द्वारा लगाए गए प्रतिबंध 5 नवंबर से प्रभावी हो रहे हैं. पहले अमेरिका ने सभी देशों को ये चेतावनी दी थी कि जो भी देश ईरान से तेल आयात करेगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

डोनाल्ड ट्रंप का कहना था कि ईरान से तेल निर्यात को शून्य पर पहुँचा कर ही दम लेंगे. छूट पाने वाले देशों में भारत, चीन, जापान, दक्षिण कोरिया और चार अन्य देश शामिल हैं. अमेरिका, ईरान और चार अन्य महाशक्तियों समेत 6 देशों के बीच ईरान के विवादास्पद परमाणु कार्यक्रम को लेकर न्यूक्लियर डील हुई थी. उस समय अमेरिका के राष्ट्रपति ओबामा थे. उस डील के तहत ईरान को अपने परमाणु कार्यक्रम को बंद करने के एवज में प्रतिबंधों से छूट मिल गई थी.

डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद उन्होंने इस डील से अपने आप को अलग कर लिया और फिर से ईरान पर कड़े आर्थिक प्रतिबंध लगाने का ऐलान कर दिया. प्रतिबंध की तारीख करीब आते ही ईरान से तेल आयातक देशों में अनिश्चितता का माहौल बन गया था. अब कुछ देशों को इस शर्त के साथ छूट दी जा रही है कि वह धीरे-धीरे ईरान से आयातित तेल की मात्रा को कम करते रहेंगे.

अमेरिका और ईरान के बीच तनातनी कोई नई बात नहीं है. दोनों देश एक दूसरे को धमकी देते रहते हैं. इससे पहले ईरान भी समुद्री सीमा पर जलडमरू मार्ग को बंद करने की धमकी दे चुका है. ये वही मार्ग है जहॉ से दुनिया का 40 प्रतिशत तेल को लेकर पानी के जहाज गुजरते हैं. इस मार्ग के बंद होने की सूरत में दुनिया भर में तेल संकट खड़ा हो सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here