IMAGE CREDIT-SOCIAL MEDIA

भारतीय विकेटकीपर की भूमिका निभा रहे बल्लेबाज ऋषभ पंत को शनिवार को इंग्लैंड के खिलाफ चौथे और अंतिम टेस्ट में मिली जीत के बाद उनके शानदार शतक के लिए मैन आफ द मैच चुना गया. पंत ने इस दौरान 118 गेंद की 101 रन की पारी के दौरान धैर्य और आक्रामकता का संतुलन बनाते हुए इंग्लैंड के गेंदबाजों को खासा परेशान किया. जिससे उनकी कई क्रिकेटरों ने प्रशंसा की.

मैच समाप्त होने के बाद ऋषभ पंत ने कुछ नहीं कहा बल्कि हमेशा की तरह ही मुस्कराते रहें. जब उनसे ये बात पूछी गई उनके लिए कौन सी बात कारगर रही और खेलते समय उनकी खुशी का राज क्या है. तो पंत ने कहा कि मुझे लगता है कि हमें ड्रिल्स में मदद मिली और मेरे आत्मविश्वास ने मदद की जो मेरी बल्लेबाजी से लेकर विकेटकीपिंग में दिखी.

पंत ने अपने द्वारा मारे गए इस शतक को बेहद अहम बताया और कहा कि ये बहुत ही महत्वपूर्ण पारी है. ये पारी उस समय आई जब टीम बेहद दबाव में थी. हम 6 विकेट पर 146 रन पर मुश्किल स्थिति में दिखाई दे रहे थे और इस दौरान इससे बेहतर कुछ नहीं हो सकता था कि आप तक शानदार प्रर्दशन करो जब आपकी टीम को आपकी जरुरत हो.

वैसे पंत क्रिकेट के मैदान पर सिर्फ बल्ले से लोगों का मनोरंजन नहीं करते बल्कि स्टंप के पीछे अपनी हास्यापद तरीकों और टिप्पणियों से सभी को लुभाते हुए नजर आते हैं. हर्ष भोगले ने तो यहां तक कह दिया कि पंत की टिप्पणियों ने उनके जैसे अनुभवी कमेंटटरों के को भी दर्शकों के सामने फीका कर दिया. इसका जवाब देते हुए वो अपनी हंसी को छुपा नहीं सके. ये मेरी तारीप है लेकिन माफ कीजिए. ये आपके लिए समस्या बन गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here