योगी ने बदला अखिलेश के इस प्रोजेक्ट का नाम, उत्तर प्रदेश में नाम बदलने का सिलसिला जारी

0


समाजवादी सरकार के दौर में बने इकाना स्टेडियम के नाम पर योगी सरकार ने सर्जिकल स्ट्राइक कर दी है. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने लखनऊ में नवनिर्मित इकाना स्टेडियम का नाम बदलकर अटल बिहारी वाजपेई इंटरनेशनल स्टेडियम रख दिया है. यूपी के राज्यपाल राम नाईक ने स्टेडियम का नाम बदले जाने की स्वीकृति दे दी है.

बता दें कि इकाना स्टेडियम यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का ड्रीम प्रोजेक्ट था और इसका निर्माण उन्होंने अपने मुख्यमंत्री रहते ही कराया था. 24 साल के लंबे इंतेजार के बाद 6 नवंबर को लखनऊ में भारत और वेस्ट इंडीज के बीच अन्तरराष्ट्रीय टी-20 मुकाबला खेला जाएगा.

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने दिसंबर 2013 में घोषणा की थी कि जल्द ही राजधानी लखनऊ को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम का तोहफा मिलेगा. इकाना स्टेडियम को अखिलश यादव का ड्रीम प्रोजेक्ट माना जाता था. अपने मुख्यमंत्री काल में ही उन्होंने इसका निर्माण पूरा कराया था. तब से लेकर अब तक यह क्रिकेट के मुकाबले को तरस रहा था.

सभी अंतरराष्ट्रीय मानकों को पूरा यह स्टेडियम तकरीबन 500 करोड़ की लागत से बना है. इस स्टेडियम में 50 हजार दर्शकों के बैठने की छमता है. दिवाली से पहले लखनऊ के क्रिकेट प्रेमियों को एक बड़ा तोहफा मिलने जा रहा है. इससे पहले भी योगी सरकार ने इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज कर दिया था. योगी सरकार में नाम बदलने का ये सिलसिला कब थमेगा ये बता पाना बहुत ही मुश्किल है, आगे और कितने नाम बदले जाएंगे ये देखना बड़ा ही दिलचस्प होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here