लेबनान की राजधानी बेरूत में मंगलवार शाम हुए भीषण धमाकों से बड़ी संख्या में जान माल का नुकसान हुआ है. अचानक हुए इन धमाकों के पीछे की वजह अभी साफ नहीं हो पाई है. धमाका इतना जबरदस्त था कि कई किलोमीटर तक इसकी आवाज सुनाई दी.

प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार शाम बेरूत के समुद्री तट पर खड़े जहाज में ये विस्फोट हुआ था. बताया जा रहा है कि ये जहाज पटाखों से भरा हुआ था. कई जानकार इसके पीछे साजिश बता रहे हैं. धमाके की वजह पता लगाने के लिए जांच चल रही है. धमाके के कई वीडियो भी सामने आए हैं जिसे देखकर इसकी तीव्रता का अंदाजा लगाया जा सकता है.

धमाके की वजह से घटनास्थल से तकरीबन 10 किलोमीटर दूर तक इमारतों के शीशे टूट गए. 70 सं अधिक लोगों के मारे जाने की पुष्टि हो चुकी है, मृतकों का आंकड़ा बढ़ सकता है.

लेबनान में हुए हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताते हुए कहा कि बेरूत शहर में हुए धमाके की वजह से जनजीवन और संपत्ति को हुए नुकसान से स्तब्ध और दुखी हूं. हम घायलों और मृतकों के प्रति संवेदना प्रकट करते हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि ये भयानक हमला प्रतीत हो रहा है, अमेरिका लेबनान के साथ है, हम हर संभव मदद करेंगे.

इजराइल के राष्ट्रपति रूवेन रिवलिन ने कहा कि इजराइल के लोग अपने पड़ोसी देश लेबनान का दर्द समझते हैं, संकट की इस घड़ी में हम उनकी हर संभव मदद को तैयार हैं. फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन ने कहा कि लेबनान के लोगों के प्रति हमारी भाईचारे की भावना है. हमने सहायता भेज दी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here