IMAGE CREDIT-SOCIAL MEDIA

पूरी दुनिया इस समय कोरोना के संकट से जूझ रही है. दुनिया के अधिकतर देश कोरोना से उपजे हालातों से लगातार जूझ रहे हैं. कोरोना के संकट के कारण सबसे ज्यादा प्रभाव दिहाड़ी मजदूरों या घरों में काम करने वाली मेड पर पड़ा है. पीएम नरेंद्र मोदी पहले ही कह चुके हैं कि सभी लोगों का अपने घरों में काम करने वाले लोगों की मदद करनी चाहिए. इसी बीच टीम इंडिया के ओपनर बल्लेबाज गौतम गंभीर के लिए बुरी खबर सामने आई है.

गौरतलब है कि गौतम गंभीर की मेड का निधन हो गया है जिसकी जानकारी पूर्व भारतीय क्रिकेटर और इस समय दिल्ली से सांसद गौतम गंभीर ने खुद ट्वीट कर दी. उनके निधन से भावुक गौतम गंभीर ने अंतिम संस्कार भी खुद किया. आज तक न्यूज चैनल के अनुसार गौतम गंभीर की मेड का नाम सरस्वती पात्रा था.

वह ओडिशा की रहने वाली थी. वह काफी लंबं समय से ब्लेड प्रेशर की बीमारी से जूझ रही थी. कुछ दिनों पहले ही उन्हें दिल्ली के गांगाराम अस्पताल में भर्ती कराया गया था. 21 अप्रैल को इलाज के दौरान सरस्वती पात्रा ने अंतिम सांस ली.

इंडियन टीम को साल 2011 में चौंपियन बनाने वाले गौतम गंभीर ने ट्वीट कर बताया, उन्हें भावुक ट्वीट में लिखा मेरे बेटियों की देखभाल करने वाली नौकरानी नहीं हो सकती. वह मेरे परिवार की सदस्य थी. उसका अंतिम संस्कार करना मेरा कर्तव्य था. मैं जाति. धर्म, पंथ या सामाजिक स्थिति से इतर गरिमा में विश्वास रखता हूं. समाज को बेहतर बनाने का यही एकमात्र रास्ता है. भारत को लेकर भी मेरी सोच यही रही है. ओम शांति..

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here