यूपी में तीन पत्रकारों की गिरफ्तारी की एडिटर्स गिल्ड ने की निंदा, कहा ये प्रेस को डराने का प्रयास

0

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से संबंधित वीडियो शेयर करने के मामले में तीन पत्रकारों पर की गई कार्रवाई की एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने कड़ी निंदा की है. गिल्ड ने कहा कि ये प्रेस को डराने का प्रयास है, ये कानून का दुरूपयोग है. पुलिस की कार्रवाई कठोरतापूर्ण, मनमानी और कानून के अधिकारवादी दुरूपयोग के समान है.

गिल्ड इसे प्रेस को डराने और अभिव्यक्ति की आजादी का गला घोटने के प्रयास के तौर पर देखती है. गिल्ड ने पत्रकार प्रशांत कनौजिया, टीवी चैनल नेशनल लाइव की संपादक इशिता सिंह और प्रमुख अनुज शुक्ला की गिरफ्तारी को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है.


बता दें कि कुछ दिन पहले कानपुर की एक युवती ने सीएम आवास के बाहर मीडिया के सामने ये कहा था कि वो और सीएम योगी एक दूसरे से प्यार करते हैं. उसकी योगी से वीडियो काल पर बात होती है. उसके दावे में कितनी सच्चाई है ये कह पाना तो बहुत मुश्किल है.

युवती के बयान के इस वीडियो को पत्रकार कनौजिया ने शेयर करते हुए लिखा कि इश्क छुपता नहीं छुपाने से योगी जी. इस पर कनौजिया के खिलाफ लखनऊ के हजरतगंज थाने में एफआईआर भी दर्ज की गई. पुलिस ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि मुख्यमंत्री के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी कर उनकी छवि धूमिल करने का प्रयास किया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here