नोटबंदी के दो साल पूरे होने पर जेटली ने कांग्रेस के वार पर किया पलटवार, ब्लाग लिखकर कहा कि…

0


नोटबंदी के दो साल पूरे होने के मौके पर कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों ने मोदी सरकार पर निशाना साधा. विपक्षियों के वार पर वित्त मंत्री अरूण जेटली ने पलटवार किया. जेटली ने एक ब्लाग लिखते हुए प्रधानमंत्री मोदी के इस फैसले का बचाव किया. अपने ब्लाग में उन्होंने लिखा है कि नोटबंदी का मकसद नकदी को बैंको के रास्ते अर्थव्यवस्था में लाना था न कि नकदी को जब्त करना.

जेटली ने अपने एक पोस्ट के माध्यम से भी कहा कि नोटबंदी का फैसला सरकार की ओर से देशहित में लिए गए फैसलों में से एक महत्वपूर्ण फैसला था. उन्होंने कहा कि नोटबंदी ने लोगों को मजबूर किया कि वो अपना पैसा बैंको में रखें. नोटबंदी के बाद देशभर में 17.42 लाख संदिग्ध खातों का पता चला है, आयकर में रिकार्ड वृद्धि हुई और पिछले साल की तुलना में तकरीबन 20 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की गई है.

नोटबंदी के बाद कैशलेस लेनदेन को बढ़ावा मिला और इसमें भी अप्रत्याशित बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है. इससे पहले भी जेटली कई बार ब्लाग लिखकर नोटबंदी के फैसले को सही ठहराने का प्रयास किया है. कांग्रेस सहित सभी विपक्षी दलों ने ट्वीट के माध्यम से नोटबंदी की दूसरी बरसी पर केंद्र की मोदी सरकार को घेरने का प्रयास किया है. विपक्षियों का कहना है कि नोटबंदी बिना सोचे समझे लिया गया फैसला था जिसकी कीमत पूरे देश को चुकानी पड़ी है.

कांग्रेस का कहना है कि नोटबंदी के बाद 35 लाख नौकरियां चली गई, देश की जीडीपी में दो प्रतिशत की कमी हुई, 105 लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा. 8 नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री मोदी ने देश को संबोधित करते हुए 1000 व 500 के नोटबंदी करने का फैसला लिया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here