कांग्रेस वर्किंग कमेटी की आज बैठक हुई. इस बीच कुछ ऐसे बयान आए कि सियासी हलचल बढ़ गयी. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बैठक में आरोप लगाया कि जिन्होंने इस वक्त चिट्ठी लिखी है वे भारतीय जनता पार्टी से मिले हुए हैं. राहुल के इस बयान पर पार्टी के वरिष्ठ नेता खफा हो गए.

पार्टी के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने ट्वीट करते हुए कहा कि राहुल गांधी कह रहे हैं हम भारतीय जनता पार्टी से मिले हुए हैं. मैंने राजस्थान हाईकोर्ट में कांग्रेस पार्टी का सही पक्ष रखा, मणिपुर में पार्टी को बचाया. पिछले 30 साल में ऐसा कोई बयान नहीं दिया जो किसी भी मसले पर भारतीय जनता पार्टी को फायदा पहुंचाए. फिर भी कहा जा रहा है कि हम भारतीय जनता पार्टी के साथ हैं.

हालांकि बाद में कपिल सिब्बल ने एक और ट्वीट किया. जिसमें उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने खुद उन्हें बताया कि उन्होंने ऐसे शब्द का इस्तेमाल नहीं किया है. ऐसे में मैं अपना पुराना ट्वीट हटा रहा हूं.

वहीं कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि अगर वह किसी भी तरह से भाजपा से मिले हुए हैं, तो वह अपना इस्तीफ़ा दे देंगे. चिट्ठी लिखने की वजह कांग्रेस कार्यसमिति थी. वहीं बाद में आजाद ने अपने बयान को लेकर सफाई दी. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने ऐसा कोई बयान नहीं दिया.

मालूम हो कपिल सिब्बल और गुलाम नबी आजाद उन 23 नेताओं में शामिल हैं जिन्होंने कांग्रेस वर्किंग कमेटी से पहले चिट्ठी लिखी थी. जिसमें पूर्णकालिक अध्यक्ष की मांग की गयी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here