भाजपा के लिए बजी खतरे की घंटी, एक बार फिर बुआ और बबुआ आये साथ, यहाँ पर मिलकर लड़ेंगे चुनाव

0


समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश सिंह यादव और बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने लोकसभा चुनाव को देखते हुए बड़ा निर्णय ले लिया है. आने वाले समय में दोनों पार्टियाँ गठबंधन के साथ चुनाव लड़ती हुई दिखाई दे सकती है. लोकसभा चुनाव 2019 दोनों पार्टियाँ मिलकर लड़ेंगी इस पर लगभग मुहर लग गयी है.

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा, ‘हम पहले से ही गोंडवाना गणतंत्र पार्टी (जीजीपी) के साथ गठबंधन कर चुके हैं. इस समय इन राज्यों में पार्टी की बड़ी भूमिका निभा रहे लोग गठबंधन के लिया आसाई सहमति बनाने में लगे हुए है. मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव को लेकर बसपा से बातचीत जारी है.” जबकि इन राज्यों के मुख्या नेताओं के रूप में विराजमान लोगों ने यह बात स्वीकारी है कि सपा , बसपा और जीजीपी के साथ औपचारिक बात हो चुकी है, सबकुछ अच्छा रहा तो इस पर मुहर लगना तय है.

पार्टी के शीर्ष नेताओं द्वारा इस गठबंधन पर अंतिम मुहर लगनी बाकी है. बातचीत के दौरान ये बात भी निकलकर सामने आई कि हो सकता है की औपचारिक गठबंधन ना हो लेकिन हम लोग उस दौर में पहुँच चुके है जहाँ से यह निर्णय लिया जा सकता है कि कौन कहाँ से चुनाव लड़ें. सपा ने अभी 10 सीटों पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है. अभी लगभग 20 सीटों पर और उम्मीदवारों की  घोषणा तय है.

मध्यप्रदेश की राजनीति में बसपा ने भी 50 उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है. इसके बाद भी सुगबुगाहट सुनाई पड़ रही है कि आने वाले कुछ दिनों में गठबंधन के सुर सुनाई दे सकते है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here