पूर्व सीएम बाबूलाल गौर ने भाजपा को दी चेतावनी, कहा – टिकट नहीं दी तो करूँगा ये काम

0

मध्यप्रदेश में पहली सूची जारी होने के बाद से ही टिकट वितरण को लेकर हंगामा बरपा हुआ है. पूर्व सीएम ने भाजपा के खिलाफ बगावती तेवर चालू कर दिए है, उन्होंने कहा है कि अगर भाजपा उन्हें टिकट नहीं देतीं है तो वह चुनाव में निर्दलीय ही ताल ठोकेंगे.

गोविन्दपुरा सीट से 10 बार विधायक रह चुके बाबूलाल गौर ने ये सीट बहू कृष्णा गौर के लिए छोड़ दी है, अभी इस सीट के लिए भाजपा ने कोई प्रत्याशी नहीं फ़ाइनल किया है. इसे लेकर कशमकश जारी है कि किस प्रत्यासी को चुनावी मैदान  में उतारा जाये.

इधर गौर ने कहा कि अगर भाजपा ने यहाँ पर भी सीट नहीं दी, तो वह और उनकी बहु दोनों ही निर्दलीय ताल ठोकेंगे. बता दे कि बाबूलाल गौर ने इस सीट पर निर्दलीय रहते हुए इस सीट पर जीत हासिल की थी. इसके बाद से वह लगातार 10 बार विधायक रहे, इसलिए यह उनकी पारंपरिक सीट मानी जाती रही है.

बाबूलाल गौर यहीं पर नहीं रुके उन्होंने आगे बढ़ते हुए कहा कि जिस तरह मधुमक्खियाँ फूलों की ओर आकर्षित होती है, उसी तरह कुछ लोग इस सीट की ओर नजर गड़ाएं हुए है, वह लोग चाहते उम्मीदवारी उनको दे दी जाये, मेरी बढती उम्र का हवाला देते हुए पार्टी को बहकाने की कोशिश में लगे हुए है. अगर पार्टी ने मेरी बहू को टिकट नहीं दिया तो वह निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में ताल ठोकते हुए नजर आयेंगे.

उन्होंने कहा – कांग्रेस अपने पाले में करने में जुटी हुई है. कमलनाथ और कांग्रेस के दिग्गज नेताओं ने कई बार फ़ोन करके अपने पाले में करने की जुगत में लगे हुए है, खैर उन्होंने साफ किया कि वह कहीं नहीं जायेंगे, लेकिन उनकी बहू का नहीं पता वह उनके ऊपर निर्भर है. वह क्या करती है?

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार -आने वाले समय में टिकट न मिलने पर कृष्णा गौर कांग्रेस का दामन थाम सकती है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here