आजम खान के बहाने उपचुनाव को साधेंगे अखिलेश यादव, आजम की ताकत से वाकिफ है सपा

0

रामपुर से सांसद और समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता आजम खान पर लगातार दर्ज हो रहे मामलों पर चुप्पी साधे एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव के रामपुर दौरे को उपचुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है. जिस पर सियासी गलियारों की नजरें बनी हुई हैं. राजनीतिक हलकों में चर्चा है कि अखिलेश आजम के बहाने रामपुर उपचुनाव को साधने आ रहे हैं.

रामपुर में आजम खान को बेहद मजबूत माना जाता है. जिले में उनका सबसे बड़ा सियासी घराना है. वह खुद सांसद हैं, पत्नी राज्यसभा सदस्य और बेटा विधायक है. इसलिए रामपुर में आजम खान की धमक है. इसका अहसास वह कई बार करा भी चुके हैं. चाहें विधानसभा चुनाव हों या लोकसभा चुनाव उन्होंने अपनी ताकत का अहसास कराया है.

विधानसभा चुनाव में बीजेपी को प्रचंड बहुमत मिला, लेकिन रामपुर में पांच में से सिर्फ दो सीटें ही जीत पायी. तीन सीटें पर आजम खान, उनके बेटे अब्दुल्ला और उनके करीबी नसीर अहमद जीते. इसी प्रकार लोकसभा चुनाव में रामपुर, संभल और मुरादाबाद से सपा को जीत मिली.

वहीं पिछले एक साल से आजम खान की घेराबंदी चल रही है. उनके खिलाफ राजस्व बोर्ड में जमीनों के वाद दायर कराए गए, हाईकोर्ट में मामले चल रहे हैं. लोकसभा चुनाव के बाद उनपर कई मामले दर्ज हुए. न सिर्फ उन पर बल्कि उनकी पत्नी, बेटे और समर्थकों पर भी मामले दर्ज हुए.

इस दौरान सपा ने आजम खान के इन मामलों से खुद को अलग रहा, लेकिन अब उपचुनाव आ रहे हैं. उनका दर्द बांटने में सपा जुट गयी है. कुछ वक्त पहले ही सपा ने प्रतिनिधि मंडल रामपुर भेजा, बरेली-मुरादाबाद मंडल के सपाइयों की गिरफ्तारी हुई. इस बीच सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने भी आजम के पक्ष में प्रेस कांफ्रेंस की. अब अखिलेश यादव भी रामपुर जा रहे हैं. इन सभी को उपचुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here