समाजवादी पार्टी राष्ट्रिय अध्यक्ष अखिलेश यादव का 9 और 10 सितंबर को रामपुर दौरा था, जिसे रद्द कर दिया गया. दौरा रद्द होने के बाद सपा अध्यक्ष ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और जिलाधिकारी व सरकार पर आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि ऐसा लग रहा है कि हम दं’गा कराने जा रहे हैं.

अखिलेश यादव ने जिलाधिकारी पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह सरकार को खुश करने में लगे हैं. वह उत्तर प्रदेश में ही पोस्टिंग चाहते हैं.

सरकार पर निशा’ना साधते हुए उन्होंने कहा कि राजनीतिक इतिहास में पहली बार हो रहा है. आजम खान को बेवजह परेशान किया जा रहा है. उनके ऊपर सबसे ज्यादा केस हो रहे हैं. प्रशासन सरकार के दबाव में आकर ऐसा कर रहा है.

अखिलेश के दौरे को रोकने के लिए कांग्रेस नेताओं ने भी मुख्यमंत्री और राज्यपाल को पत्र लिखा था. ऐसे में कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए अखिलेश ने कहा कि रामपुर में भाजपा-कांग्रेस और प्रशासन एक हैं. भाजपा को लोकतंत्र पर भरोसा नहीं है. वह यूनिवर्सिटी नहीं बनने दे रही.

उन्होंने कहा कि रामपुर को सरकार ने मु’द्दा बनाकर अपनी नाकामी को छिपाना चाहती है. प्रदेश में बेटि’यां सुरक्षित नहीं हैं. युवाओं को नौकरी नहीं मिल रही है. किसान और व्यापरी दुखी हैं. व्यापारियों ने खुद माना की गलती हुई है. ढाई साल में प्रदेश को कुछ नहीं मिला.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here