समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने पार्टी के उन नेताओं और कार्यकर्ताओं की जमकर तारीफ की है जो इस कठिन समय में लोगों की मदद करने का काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि इंसान की मदद से बड़ा कोई धर्म नहीं होता.

अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी के वे सभी नेता, विधायक एवं कार्यकर्ता सराहना के पात्र हैं जो भूखे-प्यासे लोगों के बीच माॅस्क लगाकर, वांछित दूरी बनाए हुए राहत सामग्री बांटने और मदद करने का चुनौतीपूर्ण कार्य कर रहे हैं. प्रशासनिक स्तर पर इनके काम में बाधा नहीं डाली जानी चाहिए.

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार को उनके बारे में भी मानवीय संवेदना दिखानी चाहिए जो श्रमिक कैम्पो में रह रहे हैं. इनमें से कुछ का भोजन के लिए सड़कों पर आना और कुछ का जान बचाने के लिए चोरी छुपे पलायन पर उतारू होना कहीं न कहीं प्रशासनिक व्यवस्था पर प्रश्न चिह्न लगाता है.

अखिलेश ने कहा कि लाॅकडाउन को बढ़ाए जाने की तार्किक मांग तभी सार्थक साबित होगी जब कोरोना की सघन जांच हो एवं स्वास्थ्यकर्मियों को चतुर्दिक सुरक्षा तथा जनता को आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति मिल सके. नकदी की समस्या को समाप्त करने के लिए बैंकों के साथ गांव-मुहल्ले, कालोनी स्तर पर भी व्यवस्था करनी होगी.

सपा मुखिया ने कहा कि लाॅकडाउन का पालन सभी पूरी ईमानदारी से करें. संकट के इन क्षणों में सभी मेडिकल एडवायजरी का पालन करें. इस सम्बंध में टीम-इलेवन को यह सुनिश्चित करना होगा कि जो भी कर्मचारी गरीबों और प्रभावित लोगों तक राहत पहुंचाने के लिए जिम्मेदार है उनकी तरफ से कोई कोताही नहीं होनी चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here