कोरोना वायरस महामारी से देश और दुनिया त्रस्त है. तेजी के साथ हो रहे इस वायरस के प्रसार के चलते फिलहाल शिक्षा संस्थानों को बंद रखने का फैसला लिया गया है. ऐसे में बिना एग्जाम दिए ही पास किया जा रहा है. ऐसे में राजस्थान के एक ऐसे शख्स को 10वीं में सफलता मिली हैं जो 48 बार 10वीं का एग्जाम दे चुके हैं. लेकिन वह पास नहीं हो पाए थे.

प्रण किया था कि जब तक 10वीं के एग्जाम में सफलता हासिल नहीं कर लेते शादी नहीं करेंगे. लेकिन वह इस परीक्षा को पास नहीं कर पाए और शादी का सपना अधूरा रह गया. आखिरकार अब उन्हें 10वीं में सफलता मिल ही गयी है.

दरअसल, हम बात कर रहे हैं राजस्थान के अलवर में रहने वाले 85 वर्षीय शिवचरण यादव के बारे में, जिन्होंने 10वीं कक्षा को पास करने का प्रण ले लिया था. वह अब तक 48बार 10वीं की परीक्षा दे चुके हैं.

परीक्षा को पास करने के लावा उन्होंने प्रण लिया था कि जब तक उन्हें इस परीक्षा में सफलता नहीं मिल जाती वह शादी नहीं करेंगे. इस बार कोरोना वायरस महामारी की वजह से बगैर एग्जाम दिए ही शिवचरण यादव पास हो गए हैं.

शिवचरण की आंख, कान व शरीर के अंगों ने साथ देना छोड़ दिया, लेकिन 10वीं को पास करने का उनका जज्बा और जुनून बरकरार रहा. शिवचरण अलवर में बहरोड़ के खोहरी गांव के रहने वाले हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here