सीबीआई निदेशक पर 1400 करोड़ के घोटाले को दबाने का आरोप , लोग बोले तभी नितीश ने पाला बदला था

0

 

सीबीआई विवाद के चलते लम्बी छुट्टी पर भेजे गए शीर्ष अधिकारियों में से एक अधिकारी राकेश अस्थाना पर एक गंभीर आरोप लग रहा है. इसके बाद से सीबीआई के तोते उड़ते हुए नजर आ सकता है.

राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव और पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव जोकि इस समय चारा घोटाले में जेल की सजा काट रहे है, उन्होंने सृजन घोटाले पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और निदेशक राकेश अस्थाना पर एक अंग्रेजी अखबार का हवाला देते हुए निशाना साधा है.

अंग्रेजी अखबार द टेलीग्राफ में छपी खबर में एक सीबीआई अधिकारी द्वारा 1400 करोड़ के सृजन घोटाले की जांच को दबाने की बात कही गयी है. इस खबर को ट्वीट करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा – क्या इसीलिए नितीश कुमार एनडीए की गोद में बैठने के लिए राजी हुए थे.

जब इस घोटाले की फाइल खुली तो नीतीश कुमार की विश्वाशपरक राजनीति पर असर पड़ा था, लेकिन इसके बाद इस घोटाले की जांच की रफ़्तार सुस्त पड़ गयी थी.

हम आपको बता दे कि लगभग एक साल बीत जाने के बाद भी मुख्य आरोपियों अमित कुमार और उनकी पत्नी प्रिय कुमार के खिलाफ अरेस्ट वारंट जारी होने का बाद भी गिरफ्तारी नहीं हुई.

तेजस्वी यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा –“क्या राकेश अस्थाना ने जीए से एनडीए में स्विच करने के बदले नीतीश कुमार को इस घोटाले में बचाया था.”

इसके बाद उन्होंने भाजपा पर भी निशाना साधते हुए सृजन घोटाले पर सवाल खड़े किये. इस ट्वीट को राष्ट्रीय जनता दल के अधिकारिक ट्विटर हैंडल से भी ट्वीट कर पूछा गया है की क्या आप इन्हीं कारणों की वजह से एनडीए की गोद में बैठने के लिए राजी हुए थे.

अगर आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया तो इसे खूब शेयर, कमेंट और लाइक करें.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here